History

भारत के 10 ऐतिहासिक किले

भारत के 10 ऐतिहासिक किले, भारत में सबसे बड़ा किला कौन सा है, भारत के अंदर कितने किले हैं, महाराष्ट्र के ऐतिहासिक किले, भारत में सबसे पुराना किला कौन सा है, भारत का सबसे सुंदर किला कौन सा है

भारत की शान है 10 ऐतिहासिक किले 

भारतीय इतिहास के प्राचीन काल में विशालकाय महल और मंदिर बनते थे अपने नगर को सुरक्षित करने के लिए उसके चारों तरफ विशालकाय दीवारों का निर्माण किया जाता था और उन दीवारों में चारों दिशाओं में 4 दरवाजे होते थे मध्य काल में विदेशी आक्रमण के चलते भव्य किले बनाए जाने लगे ऐसे किले हमारे गौरवशाली इतिहास और युद्ध को दर्शाते हैं 

1.कुंभलगढ़ का किला

राजस्थान में स्थित इस किले का निर्माण महाराणा कुंभा ने करवाया था इस किले की दूसरी विश्व की सबसे बड़ी दीवारें हैं जो कि 36 किलोमीटर लंबी और 15 फीट चौड़ी है यह दीवार इतनी चौड़ी है कि इस पर एक साथ 5 घोड़े दौड़ सकते हैं इस किले में 360 से भी ज्यादा मंदिर है जिनमें से 300 मंदिर जैन धर्म के और बाकी हिंदू धर्म के मंदिर हैं इस किले को दुश्मन कभी भी नहीं जीत पाया था इस किले के ऊंची जगहों पर मेहर और मंदिरों का निर्माण किया गया है और समतल भूमि का प्रयोग कृषि के लिए किया गया था और ढलान की जगह को जलाशयों के रूप में बनाया गया था इस प्रकार इस दुर्ग को सक्ष्म बनाया गया | भारत के 10 ऐतिहासिक किले |

2.सिंधुदुर्ग, महाराष्ट्र

यह किला मुंबई से 400 किलोमीटर दूर समुंदर के बीच में बनाया गया था इस किले का निर्माण वीर शिवाजी ने 1674-1667 के बीच किया था सिंधुदुर्ग अपनी भव्यता के कारण पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है यह दुर्ग महाराष्ट्र के दक्षिण में स्थित है यह दुर्ग समुंदर के बीच में एक टापू के समान दिखाई देता है

 3.गोलकुंडा का किला, हैदराबाद

आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद से 11 किलोमीटर दूरी पर बने इस किले का निर्माण तात्या शासकों ने करवाया था यह किला अपनी भव्यता और सुंदर सरचना के लिए जाना जाता है आज भी यहां पर हजारों लोग इस किले की सुंदरता को देखने के लिए आते हैं इस दुर्ग का निर्माण वारंगल के राजा ने 14वीं शताब्दी में करवाया था बाद में यह किला बहमनी राजाओं के हाथ में चला गया और यह “मोहम्मद नगर” कहलाने लगा इसके बाद 1512 ईसवी में यह  कुतुब शाही राजाओं के अधिकार में चला गया इसके बाद 1687 ईस्वी में इस किले को औरंगजेब ने जीत लिया था ग्रेनाइट की पहाड़ी पर बने इस किले में कुल 8 दरवाजे हैं किले से लगभग आधा मील दूर उत्तर में कुतुब शाही राजाओं के ग्रेनाइट पत्थर से बने मकबरे हैं जो कि आज टूटी फूटी अवस्था में है 

4.कांगड़ा किला

यह किला हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में स्थित है इस किले का निर्माण कांगड़ा शाही परिवार ने करवाया था यह दुनिया के सबसे पुराने किलो में से एक है इसे “नगरकोट” के नाम से भी जाना जाता है बाणगंगा और मानसी नदियों के ऊपर स्थित है 500 राजाओं की वंशावली के पूर्वज राजा भूमचंद की राजधानी था यह किला धन-संपत्ति के लिए इतना प्रसिद्ध था कि मोहम्मद गजनवी ने  भारत में अपने चौथे अभियान के दौरान पंजाब को हराकर में सीधा कांगड़ा पहुंचा था 

5.सोनार का किला ,राजस्थान

सोनार का किला राजस्थान के जैसलमेर में स्थित है सोनार किले को जैसलमेर किले के नाम से भी जाना जाता है जब इस किले पर सुबह की किरणें पड़ती है तो यह पूरा किला सोने की तरह चमकने लग जाता है इसलिए इसे सोनार का किला कहते हैं रेगिस्तान के बीच में स्थित होने के कारण इसे रेगिस्तान का दुर्ग भी कहा जाता है यह दुनिया के बड़े किलो में से एक है इस किले में चारों ओर 99 गण बने हुए हैं

इनमें से 92 गणों का निर्माण 1633-1647के बीच हुआ है इस किले का आकर्षण का केंद्र पहला प्रवेश द्वार है यह दो बार पत्थर पर की गई नक्काशी का शानदार नमूना है इस किले का दूसरा आकर्षण का केंद्र अंतिम दवार हावर्ड पोल के पास स्थित दशहरा चौक है यह इस दुर्ग का खास दर्शनीय स्थल है जैसलमेर किले में एक आकर्षण का केंद्र राज महल भी है पहले यह महल राजा महाराजाओं के रहने का मुख्य महल हुआ करता था यह दुर्ग का सबसे खूबसूरत हिस्सा भी है 

6.चित्तौड़गढ़ का किला

राजस्थान के चित्तौड़ में स्थित है यह किला 700 एकड़ भूमि में फैला हुआ है जमीन से 500 फुट ऊंची पहाड़ी पर बना यह किला परास नदी के किनारे स्थित है सातवीं सदी से लेकर सोलवीं सदी तक यह राजपूत वंश का महत्वपूर्ण  गढ़ था यह किला उस समय का साक्षी है जब  सही राजा अपने दुश्मन के सामने झुकने की बजाय मरना पसंद करते थे इस किले में रानी पद्मिनी की वीरता की कथा सुन सकते हैं इस किले में कई मंदिर, महल और सार्वजनिक होल बने हुए हैं जो हर साल लाखों यात्रियों को अपनी और आकर्षित करते हैं | भारत के 10 ऐतिहासिक किले |

7.ग्वालियर का किला

मध्य प्रदेश में स्थित ग्वालियर के किले को राजा मानसिंह तोमर ने बनवाया था यह उत्तर और मध्य भारत के सबसे सुरक्षित किलो में से एक है यह किला स्थापत्य कला और दीवारों पर की गई सुंदर नकाशी के लिए बहुत ही सुंदर दिखाई देता है यह किला गोपाल चंद्र पर्वत पर बना हुआ है लाल बलुआ पत्थर से बने इस किले के भीतरी हिस्से में मध्यकालीन के स्थापत्य नमूने मौजूद है 15 वीं शताब्दी में बना गुजरी महल उनमें से एक है जो राजा मानसिंह और गुजरी रानी मृग के प्रेम का प्रतीक है यह मैदानी क्षेत्र में 100 मीटर ऊंचाई पर है इस किले की बाहरी दीवार लगभग 2 मीटर लंबी है और इस किले की चौड़ाई 1किलोमीटर से लेकर 200 मीटर तक है 

8.आगरा का किला

उत्तर प्रदेश के आगरा में बने इस किले को यूनेस्को ने विश्व धरोहर में शामिल किया है पहले यह किला राजपूत राजा पृथ्वीराज चौहान के पास था बाद में इस पर महमूद गजनबी ने कब्जा कर लिया था देश के सभी सुंदर किलो में से इसे एक माना जाता है इस पर की गई नक्काशी बहुत ही खूबसूरत है इस किले की चारदीवारी के अंदर पूरा शहर बसा हुआ है जिसकी कई इमारतें बेहतरीन नमूनों में से एक है सफेद संगमरमर की मोती मस्जिद, दीवाने आम ,दीवाने खास, जहांगीर पैलेस,शीश महल उनमें से कुछ खास हैं1573 ईसवी में बादशाह अकबर ने आगरा के किले की शुरुआत की थी | भारत के 10 ऐतिहासिक किले |

9.मेहरानगढ़ किला

मेहरानगढ़ का किला राजस्थान के जोधपुर में स्थित है यह 500 साल से भी ज्यादा पुराना और सबसे बड़ा किला है यह किला काफी ऊंचाई पर बना हुआ है इसे राव जोधा ने बनवाया था इस किले में 7 दरवाजे हैं प्रत्येक दरवाजे पर राजा द्वारा जीते गए युद्ध के स्मारक बने हुए हैं इस किले में जाया पोल गेट राजा मानसिंह ने बनवाया था किले के अंदर मोती महल शीश महल जैसे भवनों को बहुत ही खूबसूरती से सजाया गया है इस किले के अंदर चामुंडा देवी का मंदिर भी बना हुआ है

10 लाल किला

लाल किला दिल्ली का एक विश्व प्रसिद्ध किला है इस किले का निर्माण तोमर राजा अनंगपाल ने करवाया था इसके बाद पृथ्वीराज चौहान ने इस किले का निर्माण फिर से करवाया था और इसके बाद सादा ने इसे दुर्ग शैली में निर्मित करवाया था लाल बलुआ पत्थर और प्राचीनता के कारण इसे लाल किला कहा जाता है भारत के लिए यह किला ऐतिहासिक महत्व रखता है

मुगल शासक शाहजहां 11 वर्ष तक आगरा में शासन करने के बाद तय किया कि दिल्ली को राजधानी बनाया जाए और यहां 1618 में लाल किले की नींव रखी गई 1647 में इस किले का उद्घाटन किया गया इस किले को बनाने में लगभग 10 वर्ष का समय लगा था लाल किले की संरचना दुनिया के सामने भारत को प्रस्तुत करती है यूनेस्को ने इसे विश्व विरासत स्थल में शामिल किया है | भारत के 10 ऐतिहासिक किले |

Back to top button